2014 में 46 मंत्रियों ने शपथ ली थी, इस बार 58, इनमें 19 नए चेहरे; 25 कैबिनेट, 9 स्वतंत्र प्रभार और 24 राज्य मंत्री

 नरेंद्र मोदी दूसरी बार प्रधानमंत्री बन गए। गुरुवार को राष्ट्रपति भवन में हुए समारोह में मोदी समेत 58 मंत्रियों ने शपथ ली, जबकि 2014 में 46 ने शपथ ली थी। अमित शाह पहली बार केंद्रीय मंत्री बने। शाह के मंत्री बनने के बाद संभावना जाहिर की जा रही है कि जगतप्रकाश नड्डा को भाजपा अध्यक्ष बनाया जा सकता है। उन्होंने शपथ नहीं ली। मंत्रिमंडल में सबसे चौंकाने वाला चेहरा एस जयशंकर का है, जो तीन साल विदेश सचिव रह चुके हैं। इस बार 25 कैबिनेट, 9 राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार और 24 राज्य मंत्री बनाए गए। 19 नए चेहरों को जगह मिली। उत्तर प्रदेश से सबसे ज्यादा 8 सांसदों को मंत्री बनाया गया। सुषमा स्वराज, मेनका गांधी, राज्यवर्धन राठौर, महेश शर्मा और सुरेश प्रभु को इस बार मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया।

53 मंत्री भाजपा के हैं और सहयोगी दलों के मंत्रियों की संख्या 4 है। इनमें जदयू और अपना दल शामिल नहीं हैं। 2014 में मंत्री बनाए गए राज्यवर्धन और मेनका समेत 36 को इस बार मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया।